UP News : Mathura : कोरोना ग्रसित रोगी व उसके परिजनों को तिरस्कृत नजरों से न देखें : घनश्याम अग्रवाल वांचे लाला

 

मथुरा : कोविड 19 वैष्विक महामारी में चल रहे लॉक डाउन के अनलॉक डाउन के चलते एक तरफ जन जीवन सामान्य होने लगा तो बाजार भी खुलने लगे तो दूसरी तरफ कोरोना ग्रसित रोगियों की संख्या में भी इजाफा होने लगा जिसके चलते जनपद के कस्बा गोवर्धन में भी कोरोना ग्रसित पाये जाने पर कस्बे में भय के साथ हड़कंप मचा हुआ है लोगों के द्वारा कोरोना पीड़ित परिवार के खानदान तक के लोगों को हीनता की दृष्टि से देखने के साथ साथ शोशल मीडिया पर तरह तरह की चर्चाओं ने माहौल को गरमा रखा ऐसे में नगर के प्रसिद्ध व्यापारी व समाजसेवी ने आगे आकर लोगों से अपील कर कहा कि ईश्वर ऐसा किसी के साथ न करे और ऐसे वक्त में कोरोना ग्रसित रोगी या उसके परिजनों को तिरस्कृत नजरों से न देखें बल्कि उसका उत्साह बर्धन करें जिससे कि रोगी व उसके परिजन इस बीमारी को हराकर कोरोना की जंग को जीतने में सहूलियत महसूस करेंगे।

अब तक के विवरण के अनुसार कस्बा गोवर्धन के बरसाना रोड निवासी किशन चंद खंडेलवाल कलाभवन वाले कुछ समय से रीढ़ की हड्डी के रोग से ग्रसित चल रहे थे जिनका उपचार जयपुर में चल रहा था। विगत दिनों उनकी रीढ़ की हड्डी की समस्या जटिल हो गई और डॉक्टरों ने ऑपरेशन की बात कही लेकिन ऑपरेशन नही किया। जिस पर किशन चन्द खण्डेलवाल कलाभवन वालों को उनके परिजन गोवर्धन ले आये व सुविधानुसार विगत दिन फरीदाबाद ले गए जहां डॉक्टरों ने ऑपरेशन से पूर्व अन्य जांचों के साथ कोरोना की जांच की जिसमे की उनकी रिपोर्ट कोरोना पोजेटिव निकली।

कोरोना पोजेटिव की सूचना प्रशासन के साथ क्षेत्र में जंगल की आग की तरह फैल गई तो प्रशासन ने पीड़ित रोगी के पुत्र व पुत्री को अपने साथ आईशोलेषन सेंटर भिजवाया व शेष परिजनों को होम कोरनटीएन कर दरवाजे पर नोटिस चस्पा कर उस गलि को आम जन के लिए प्रतिबंधित कर दिया।

उक्त किशन चन्द खंडेलवाल के कोरोना पोजेटिव की खबर फैलने से लेकर पुष्टि होने तक कस्बे में पहले तो चर्चाओं का बाजार गर्म रहा उसके बाद शोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई और माहौल गर्माता देख कस्बे के प्रमुख समाजसेवी व व्यापारी और द लक्ष्य वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष घनश्याम अग्रवाल उर्फ वांचे लाला ने अपने होटल चन्द्रा गॉर्डन कुछ लोगों को बुलाकर शोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए समझाते हुए जागरूक किया व लोगों को जागरूक करने को प्रेरित करते हुए अपील की कोरोना ग्रसित रोगी व उसके परिजनों को तिरस्कृत नजरो से न देखा जाए अपितु इस दुखद घड़ी में पीड़ित रोगी व उसके परिजनों का उत्साह बर्धन करना बहुत जरूरी है। इसके साथ ही किशन खंडेलवाल को जयपुर व फरीदाबाद लाने ले जाने ड्राइवर राम कुमार जो कि कोरोना न होने के डर के कारण घर मे डरा सहमा था उसे फोन करके आशस्वत किया और वताया की बीमारी किसी को हो सकती है इसमें घबड़ाने की कोई बात नही अपना चेकप कराओ किसी बात की चिंता मत करो और पूरा साथ देने का वायदा किया तब जाकर ड्राइवर राम कुमार राहत की सांस ली व अपना टेस्ट कराने हेतू चिकित्सको के पास गया। दूसरी तरफ प्रशासन ने कोरोना पोजेटिव पाए जाने वाले क्षेत्र को हॉट स्पॉट क्षेत्र घोषित कर सील कर दिया गया व जरूरी सामान हेतू होम डिलीवरी की सुविधा चालू करा दी।

डॉ केशव आचार्य गोस्वामी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: