UP News : Govardhan : ये पुलिस है बाबू सिर्फ अपने मतलब को समझती है

 

पुलिस रस्सी को सांप और सांप को रस्सी बनाने वाली कहावत तो सुनी होगी। लेकिन कोई अपनों का ही संग छोड़ दे ऐसा कभी नही सोचा होगा। मामला थाना मगोर्रा की पुलिस का है जब एक ट्रक चालक ने गैरजिम्मेदाराना तऱीके से ट्रक चलाते वक्त की टक्कर एक होमगार्ड को मार दी लेकिन मगोर्रा थाना प्रभारी द्वारा कार्यवाही तक नही की गई।

मामला थाना मगोर्रा क्षेत्र के अन्तर्गत का विगत 7 मई का है। जब जाजनपट्टी स्थित एक स्कूल में लाॅकडाउन के चलते राजस्थान सेे आ रहे श्रमिकों को गतव्य तक पहुंचाने की ड्यूटी में लगे होमगार्ड में पीछेे से ट्रक (टेलर) ने टक्कर मार दी। घटना में होेमगार्ड लीलाधर बुरी तरह से घायल होे गया और पुलिस ने मौके से ट्रक समेत चालक को कब्जे लिया। पुलिस ने घटना स्थल से कब्जे में लिये गये ट्रक और चालक को छोड़ दिया। इसे लेकर होमगार्ड के पुत्र कुमरपाल ने ट्रक और चालक के खिलाफ तहरीर दी। मामले में पुलिस ने पांच दिन बाद ट्रक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है लेकिन दो सप्ताह गुजरने पर पुलिस ने कोई कार्यवाही की। घायल होमगार्ड लीलाधर सिंह अपने बेटे कुमरपाल के साथ अधिकारियों ने कार्यालयों में न्याय की गुहार लगाने के लिए चक्कर पर चक्कर लगा रहे है। लेकिन कभी न तो कोई पुलिस विभाग द्वारा आर्थिक मदद दी गई है और ना ही मुकदमे में कोई कार्यवाही की गई है। होमगार्ड लीलाधर का आरोप है कि घटना स्थल से पुलिस ने ट्रक समेत चालक को गिरफ्तार किया था लेकिन कुछ दिन बाद ट्रक और चालक को पुलिस छोड़ दिया। इस बारे में थाना प्रभारी रोहन सिंह का कहना है कि मामले में ट्रक समेत चालाक के खिलाफ मुदकमा दर्ज कर जांच चल रही है। चालक को गिरफ्तार करने के लिए टीम गठित की गई है। जल्द ही चालक गिरफ्तार किया जायेगा।

 

डॉ केशव आचार्य गोस्वामी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: