गोवर्धन : गोवर्धन कस्बे में वर्तमान समय मे व्यापार मंडल के कई ग्रुप पनप गए हैं और वर्चस्व को लेकर एक दूसरे की टांग खिंचाई करते नजर आते हैं जिससे प्रशासन मूक दर्शक बना रहता है और असल व्यापारियों का उत्पीड़न हो रहा है।

कस्बा गोवर्धन में व्यापार मंडल और प्रशासन द्वारा दुकानों को खोलने के रोस्टर प्लान से कस्बे के व्यापारियों में खासी नाराजगी चली आ रही थी जिसके चलते कुछ तथाकथित व्यापार मंडलों के पदाधिकारियों और व्यापारियों ने पुनः एसडीएम राहुल यादव और क्षेत्राधिकारी जितेंद्र कुमार सिंह को अपनी समस्याओं से अवगत कराया। इस दौरान गोवर्धन कस्बे के व्यापार मंडलों के नेताओं में अपने वर्चस्व दिखाने को लेकर तीखी नोकझोंक के साथ एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते हुए नजर आए। गोवर्धन व्यापार मंडल के नगर अध्यक्ष संजू लालाजी ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि रोस्टर प्लान बनाते समय प्रशासन ने स्थानीय व्यापारी नेताओं से सलाह मशविरा किए बगैर उसे लागू कर दिया जिसकी वजह से व्यापारियों के सामने दुकानें खोलने की यह समस्याएं आ रही हैं साथ ही उन्होंने संशोधित प्लान भी अधिकारियों के सामने रखा जिस पर प्रशासन ने विचार-विमर्श के बाद निर्णय लेने की बात कही। वही उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के नगर अध्यक्ष मनीष लंबरदार ने व्यापारी नेताओं से सवाल किया कि जब प्रशासन यह प्लान बना लागू कर रहा था तभी आपने इसका विरोध क्यों नहीं किया व गोवर्धन के ग्रीन जोन का हवाला देते हुए जिम्मेदारी लेते की बात कह कर अपने आप को सर्वोच्च साबित करते हुए प्रशासन से यह भी अपील की की अगर प्रशासन उन्हें 2 दिन का वक्त दे तो वह व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के साथ मिलकर कड़ाई से दुकानदारों से तथा ग्राहकों से लॉक डाउन के नियमों का सख्ती से पालन इस बीच क्षेत्राधिकारी गोवर्धन जितेंद्र कुमार ने व्यापारी नेताओं को कुछ विकल्प सुझाए जिसमें तीन तीन दिन दुकानों को खोलने या फिर ऑड इवन आधार पर दुकानों के खोले जाने के विकल्प सुझाए और व्यापारी नेताओं की राय जानी।

जिसके बाद व्यापारी नेताओं और प्रशासन की बैठक के बाद संशोधित रोस्टर प्लान पर सहमति बनी लेकिन इस प्लान पर अंतिम निर्णय प्रशासन को ही लेना है जो कि 31 मई के बाद ही लिया जाएगा । हालांकि इसके बावजूद भी कस्बे के तमाम व्यवसाई इस रोस्टर प्लान से असहमत नजर आए और व्यापार मंडल पर निर्णय लेते वक्त उनकी राय ना लिए जाने का आरोप भी लगाया । कुछ व्यापारियों का आरोप था कि गोवर्धन में कितने व्यापार मंडल कार्य कर रहे हैं उनको पता ही नहीं है उन सभी व्यापार मंडलों में भी आपस में एकजुटता नहीं है। वहीं व्यापार मंडल के तहसील अध्यक्ष गणेश पहलवान और नगर अध्यक्ष संजू लाला जी ने व्यापारी नेताओ के आपसी मतभेद के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि बैचारिक मतभेद हर जगह चलते रहते हैं लेकिन व्यापारियों के हित के लिये पूरा व्यापार मंडल एक है। इस मौके पर उद्योग व्यापार मंडल के जिला वरिष्ठ मंत्री ठाकुर फतेह सिंह पंकज बोहरे प्रमोद शर्मा देव सूर्यवंशी ठाकुर लक्ष्मण सिंह कान्हा मुखिया हुकम अग्रवाल गोवर्धन थाना प्रभारी लोकेश सिंह भाटी आदि मौजूद रहे। सौ बात की एक बात यह है कि कस्बे में जिस तरह से व्यापार मंडल में विखंडन की तस्वीरें नजर आ रही है उससे व्यापारी वर्ग में असंतोष होना लाजमी है देखना होगा कि व्यापार मंडल के पदाधिकारी आपसी हितों के टकराव को दरकिनार कर व्यापारियों के हित में कब एकजुट होंगे।

 

डॉ केशव आचार्य गोस्वामी

By upnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES