यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट का पेपर लीक

Lucknow – यूपी बोर्ड की परीक्षा से जुड़ी बड़ी खबर है। इंटरमीडिएट परीक्षा में अंग्रेजी का पेपर लीक हो गया है। इसके चलते 24 जिलों में परीक्षा रद्द कर दी गई है। पेपर के दोनों सेट लीक हो गए हैं। इंटर के छात्रों की दोपहर 2 बजे से पेपर था। लेकिन, परीक्षा शुरू होने से दो घंटे पहले ही पेपर लीक हो गया है। इसके बाद आनन-फानन में बोर्ड अधिकारियों ने पेपर को रद्द कर दिया। लेकिन अन्य 51 जिलों में परीक्षा हो रही है। बलिया के DIOS को निलंबित कर दिया गया है।
उधर, पेपर लीक मामले की जांच के लिए STF का गठन कर दिया गया है। वाराणसी से STF की टीम जांच के लिए बलिया पहुंच गई है। 5 सदस्यीय CBI टीम ने 12 लोगों को उठाया है, इनसे पूछताछ की जा रही है। 18 लोगों के मोबाइल जब्त किए गए हैं। ACS होम अवनीश अवस्थी ने बलिया के डीएम और एसपी से पेपर लीक मामले की रिपोर्ट मांगी है।
घटना के बाद सरकार ने STF जांच के आदेश दिए हैं। कहा है कि दोषियों के खिलाफ NSA के तहत कार्रवाई की जाएगी। पेपर बलिया से लीक हुआ है। सीएम योगी ने अधिकारियों को कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। जाएगी उधर, तमाम जिलों में पेपर देने एग्जाम सेंटर्स पर पहुंचे छात्रों को अभी तक पेपर लीक होने या पेपर रद्द होने की कोई सूचना नहीं है। छात्र-छात्राएं स्कूल के बाहर लाइनों में खड़े हैं।
माध्यमिक शिक्षा मंत्री गुलाब देवी ने कहा कि पेपर लीक होने के बाद सीएम योगी अध्यक्षता में बैठक हुई। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है। हमारी व्यवस्था नकल विहीन परीक्षा करानी है। पेपर केवल बलिया में लीक हुआ। लेकिन इस सीरीज के पेपर 24 जिलों में गए थे। इसलिए इन जिलों में पेपर रद्द कर दिया गया है। हमारा लक्ष्य नकल विहीन परीक्षा करानी है। जिलाधिकारी और पुलिस-प्रशासन जांच कर रही है। इसके बाद कार्रवाई की जाएगी।
पेपर लीक होने पर ACS शिक्षा आराधना शुक्ला का कहना है कि पुलिस-प्रशासन जांच में जुटी है। एक जिले में पेपर लीक हुआ था, लेकिन बाकी जिलों हमने बच्चों के हित को ध्यान रखकर पेपर को रद्द करने का फैसला किया है। इस मामले की जांच कराई जाएगी।
बलिया में हाईस्कूल के संस्कृत विषय का भी पर्चा मंगलवार को आउट हुआ था। परीक्षा शुरू होने से घंटों पहले से ही प्रश्नों के उत्तर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे थे। डीएम ने 3 सदस्यीय टीम गठित कर जांच के निर्देश दे दिए। इस मामले में डीआईओएस ब्रजेश मिश्र की तहरीर पर उभांव थाने में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया है।
29 मार्च को देवरिया में ग्राम प्रधान के घर बोर्ड की कॉपियां लिखते हुए 9 लोगों को पुलिस ने पकड़ा था। परीक्षा केंद्र से महज 4-5 किलोमीटर दूर कॉपियां लिखी जा रही थीं। इनमें कुछ परीक्षार्थी हैं तो कुछ दूसरे की जगह पर परीक्षा दे रहे थे। बरहज क्षेत्र के विन्ध्याचल शाह इंटर कॉलेज को बोर्ड परीक्षाओं के लिए सेंटर बनाया गया है। 29 मार्च को हाईस्कूल की संस्कृत और इंटरमीडिएट की चित्रकला प्राविधिक और आलेखन विषय का पेपर था। पैना गांव में यहां ग्राम प्रधान नब्बेलाल गुप्ता के घर पर एसडीएम ध्रुव शुक्ला ने पुलिस टीम के साथ छापेमारी की। इस दौरान 9 लोगों को पुलिस ने कॉपियों को लिखते हुए रंगेहाथ पकड़ा।
बलिया में तैनात DIOS बृजेश मिश्रा का पेपर लीक से पुराना नाता है। 6 साल मई 2017 में प्रतापगढ़ के थाना लालगंज क्षेत्र में इंटरमीडिएट की गणित और रसायन विज्ञान का पेपर लीक हुआ था। पेपर शहर में परीक्षार्थियों को 500-500 रुपए में बेचा गया था। तब भी बृजेश मिश्रा ही प्रतापगढ़ के DIOS थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: