आज का हिन्दू पंचांग

आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞
⛅ दिनांक 25 मई 2020
⛅ दिन – सोमवार
⛅ विक्रम संवत – 2077 (गुजरात – 2076)
⛅ शक संवत – 1942
⛅ अयन – उत्तरायण
⛅ ऋतु – ग्रीष्म
⛅ मास – ज्येष्ठ
⛅ पक्ष – शुक्ल
⛅ तिथि – तृतीया 26 मई रात्रि 01:18 तक तत्पश्चात चतुर्थी
⛅ नक्षत्र – मॄगशिरा सुबह 06:10 तक तत्पश्चात आर्द्रा
⛅ योग – शूल 26 मई प्रातः 05:06 तक तत्पश्चात गण्ड
⛅ राहुकाल – सुबह 07:26 से सुबह 09:05 तक
⛅ सूर्योदय – 05:59
⛅ सूर्यास्त – 19:12
⛅ दिशाशूल – पूर्व दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण – रम्भा तृतीया
💥 विशेष – तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 कर्ज से मुक्ति हेतु 🌷
🙏🏻 शुक्ल पक्ष हो किसी भी मास का, शुक्ल पक्ष के प्रथम मंगलवार को शिवलिंग पर दूध व जल के बाद मसूर की दाल अर्पण करते हुये ये मंत्र बोले –
🌷 ॐ ऋणमुक्तेश्वर महादेवाय नम: |
🙏🏻 तो इससे ऋण, कर्जे से मुक्ति मिलती है |
💥 विशेष – 26 मई 2020 को शुक्ल पक्ष का प्रथम मंगलवार है।
🙏🏻 – Shri Sureshanandji Ahmedabad 21st July’2013
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 मंगलवारी चतुर्थी 🌷
➡ 26 मई 2020 (पुण्यकाल सूर्योदय से रात्रि 01:09 तक )
🌷 मंत्र जप व शुभ संकल्प की सिद्धि के लिए विशेष योग
🙏🏻 मंगलवारी चतुर्थी को किये गए जप-संकल्प, मौन व यज्ञ का फल अक्षय होता है ।
👉🏻 मंगलवार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना … जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 मंगलवारी चतुर्थी 🌷
🙏 अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…
🌷 > बिना नमक का भोजन करें
🌷 > मंगल देव का मानसिक आह्वान करो
🌷 > चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें
💵 कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा |
🙏🏻 –Pujya Bapuji 17th Jan’10, उज्जैन
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

🌷 मंगलवार चतुर्थी 🌷
👉 भारतीय समय के अनुसार 26 मई 2020 (सूर्योदय से रात्रि 01:09 तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें,शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..
👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-
🌷 1) ॐ मंगलाय नमः
🌷 2) ॐ भूमि पुत्राय नमः
🌷 3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः
🌷 4) ॐ धन प्रदाय नमः
🌷 5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः
🌷 6) ॐ महा कायाय नमः
🌷 7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः
🌷 8) ॐ लोहिताय नमः
🌷 9) ॐ लोहिताक्षाय नमः
🌷 10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः
🌷 11) ॐ धरात्मजाय नमः
🌷 12) ॐ भुजाय नमः
🌷 13) ॐ भौमाय नमः
🌷 14) ॐ भुमिजाय नमः
🌷 15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः
🌷 16) ॐ अंगारकाय नमः
🌷 17) ॐ यमाय नमः
🌷 18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः
🌷 19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः
🌷 20) ॐ वृष्टि हराते नमः
🌷 21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः
🙏 ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें ..फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए..अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-
🌷 भूमि पुत्रो महा तेजा
🌷 कुमारो रक्त वस्त्रका
🌷 ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम
🌷 ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे
🙏 हे भूमि पुत्र!..महा क्यातेजस्वी,रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..
🙏 Sureshanandji-Lucknow 22nd March ’11

📖 हिन्दू पंचांग संपादक ~ अंजनी निलेश ठक्कर
📒 हिन्दू पंचांग प्रकाशित स्थल ~ सुरत शहर (गुजरात)
🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: