Modinagar: बाजार, व रेस्टोरेंट खुलने से व्यापारियों ने ले राहत की सांस

मोदीनगर। एक साल से कोरोना महामारी में व्यापारी बुरी तरह चौपट हुआ है। अब प्रदेश सरकार के फैसले के बाद 21 जून से रेस्टोरेंट कोविड के नियमों के तहत 50 फीसद ग्राहकों के साथ खुलेंगे। वहीं बाजार भी अब सात बजे की बजाय रात नौ बजे तक खुलने से मायूस चेहरों पर खुशी लौट आई है। रेस्टोरेंट पूरी तरह बंद होने से स्टाफ को वेतन देने की चुनौती थी। वहीं बाजार भी सात बजे तक बंद होने से दूर के ग्राहक पांच बजे तक ही टिक रहे थे। गर्मी में शाम को ही ग्राहक खरीदारी को निकलते हैं तो बाजार नौ बजे तक खुलने से ग्राहक, दुकानदार व रेस्टोरेंट में रौनक लौटेगी।
रेस्टोरेंट स्वामियों को कोविड-19 नियमों के तहत अपने कर्मचरियों को वैक्सीन लगवानी होगी। रेस्टोरेंट में आक्सीमीटर, थर्मामीटर, सैनिटाइजेशन का इंतजाम करना होगा। जिससे ग्राहकों के साथ स्टाफ भी संक्रमण से सुरक्षित रह सके। रेस्टोरेंट स्वामियों ने कोविड-19 के नियमों की तैयारी करनी शुरू कर दी है। 50 फीसद ग्राहकों को बैठाने के हिसाब से ही सिटिंग अरेजमेंट करेंगें।
सवा साल से किटी पार्टी नहीं हो सकीं: सवा साल पहले जब कोरोना नहीं था, तब रोजाना किटी पार्टी, बर्थडे पार्टी व शादी की सालगिरह की पार्टी होती थीं। पिछले साल आठ जून को रेस्टोरेंट खुलने लगे थे लेकिन, कोरोना के डर से पार्टियां नहीं हो रहीं थीं। सर्दियों में पार्टियों का सिलसिला बढ़ा था, कि दोबारा कारोना आ गया। अब 21 जून से रेस्टोरेंट खुलने हैं लेकिन, सितंबर से ही बिजनेस को गति मिलने की बात कही जा रही है।

राज प्लेस के स्वामी सूरज सिंह कहते है कि 50 फीसद ग्राहकों के साथ सिटिंग अरेजमेंट करेंगे। स्टाफ को वैक्सीन लगवा चुके है। प्लेट को सीधे छूने की बजाए रैप कराएंगे, एप्रेन, मास्क पहनकर ही कर्मचारी ग्राहकों को सर्विस देंगे। बताया कि रेस्टोरेंट में कोविड डेस्क बनाई गई है। ग्राहकों का तापमान व आक्सीजन चेक करने के बाद ही प्रवेश दिलाएंगे। सिटिंग अरेंजमेंट 50 फीसद के हिसाब से रहेगा। कर्मचारियों के वैक्सीन लग चुकी है।

व्यापारी नेता अमित गोयल ने कहा कि सात बजे की बजाए रात को नौ बजे तक बाजार खुलने से किराना दुकानदारों को सहूलियत रहेगी। गर्मियों में शाम को ही दुकानदार घर का सामान खरीदने निकलता है।
राधिका कलैक्शन के संचालक का कहना है कि कपड़े का थोक कारोबार गांव व कस्बे के ऊपर निर्भर ज्यादा है। सात बजे तक बाजार बंद होने से गांव का ग्राहक पांच बजे तक वापस लौट जाता था। अब कम से कम 7.30 बजे तक टिक सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: