Mathura : उत्तर प्रदेश से अपना अस्तित्व पहले ही खो चुकी कांग्रेस अब कोविड 19 नामक आपदा में देशभर में इन दिनों प्रवासी मजदूरों की घर वापसी को लेकर जमकर सियासत कर रही है

 

कांग्रेस शासित राजस्थान से बहज बॉर्डर पर बसे भेजना बहुत कुछ बोलता है

यूपी में अस्तित्व खो चुकी कांग्रेस मजदूरों के नाम सियासत चमकाने को आतुर

मथुरा गोवर्धन राजस्थान बॉर्डर बना राजनीति का अखाड़ा।

कांग्रेस ने विगत 17 मई को मजदूरो के पालायन के बीच कॉग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी द्वारा पार्टी खर्चे पर यूपी में मथुरा के बहज गोवर्धन बॉडर पर 1000 बस भेजी गई थी जिन्हें मथुरा जिला प्रशासन द्वारा परमिशन न होने पर यूपी राजस्थान के बहज बॉर्डर पर ही रोक दिया गया प्रियंका गांधी के 1000 बस यूपी भेजने के आव्हान पर सैकड़ो बस बहज बॉर्डर पर तो पहुँच गई लेकिन हरियाणा उत्तर प्रदेश के कोटवन बॉर्डर पर हजारों लोगों को घर भेजने हेतू सरकार से ही गुहार लगाते रहे कांग्रेस के दिग्गज प्रदीप माथुर व अन्य कांग्रेसी जो चर्चा का विषय है होने के साथ ही कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान के बहज बॉर्डर पर बसों को अनुमति पहले न मिलना बाद में अनुमति मिलने से गोवर्धन डीग मार्ग स्थित बहज बॉर्डर सियासत का राण खेत्र बन गया और देखते ही देखते राजस्थान कॉग्रेस के सियासी सुरमा बहज बॉर्डर पर पहुँच गए और यूपी की भाजपा सरकार पर जमकर तीखे प्रहार करने लगे वही उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कांग्रेस द्वारा भेजी बसों के चालकों परिचालकों के नाम पतों के अलावा बसों की सूची मांगते हुए अनुमति दे दी। यूपी में बसों को चलाने का साशन आदेश जारी कर दिया गया उत्तर प्रदेश में इन बसों को चलवाने का जिम्मा मथुरा के पूर्व विधायक और विधान मंडल दल के पूर्व नेता प्रदीप माथुर को दिया है।

मजदूरो की मजबूरी को देख कांग्रेस ने यू पी में सत्ता में प्रवेश करने और जनाधार बनाने हेतु एक रणनीति के तहत कामगार मजदूरों को सुगमता से जल्द से जल्द घर भिजवाने पहल शुरू करते हुए 1000 बसों को योगी सरकार द्वारा मंजूरी दिए जाने का पत्र भी लिखा था और यू पी राजिस्थान सीमा के बहज गाँव पर 500 बसों को भेजने के बाद तेज हुई सियासत को देख योगी सरकार ने नहले पर दहला खेलते हुए प्रियंका की 1000 बसों को यूपी में एंट्री की अनुमति तो दे दी लेकिन सूची उपलब्ध कराने का दायित्व भी दे दिया।

कांग्रेस द्वारा दी गई बसों की सूची में कई नम्बर तो हवा हवाई मिले जिससे बोखलाए प्रदीप माथुर ने योगी को अनुमति देने पर शुक्रिया देते हुए तंज कसा ओर कहा कि योगी जी देर आये दुरुस्त आये, अगर इस पर पहले ही विचार कर लिया होता तो आज मजदूरो की यह दुर्दशा नही होती।

कांग्रेस के नेता प्रदीप माथुर ने कहा कि आज भी हरियाणा यू पी बॉर्डर पर सुबह 5 हज़ार से अधिक प्रवासी मजदूर थे। जब प्रमुख सचिब व जिलाधिकारी से बात की गई तब यूपी सरकार की बसों को लगवाकर आज भी मजदूरो को रवाना किया गया है लेकिन जब उनसे पूछा गया कि हरियाणा बॉर्डर पर बसें कांग्रेस की क्यों नही पहुँची तो जबाब नही दे पाए इससे साथ प्रतीत होता है कि कांग्रेस शासित राज्य से बसें कैसे उपलब्ध हुई होंगी । प्रदीप माथुर ने यह भी कहा कि जब पीएम फंड में सभी से सहयोग ले सकते है तो फिर विपक्षी पार्टी से सहयोग लेने में कैसा संकोच हमने भाजपा की नही देश की जनता के सहयोग के लिए मदद करने का अनुरोध किया है । जल्द ही शेष ड्राइवरों व बसों के नाम नम्बर आदि की सूची योगी सरकार को दे दी जाएंगी और मजदूरो को घर भिजवाया जाएगा।

 

डॉ केशव आचार्य गोस्वामी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: