Govardhan : कोरोना से बचने के लिए विकास दादा ने लॉक डाउन में 10वीं बार कराया हवन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों की यज्ञ से वातावरण होता है शुद्ध

 

विश्व प्रसिद्ध पवित्र तीर्थ स्थल गोवर्धन धाम में अपने लक्ष्य 100 परिवारों को आटा और राहत सामग्री वितरण कर अपने लक्ष्य से दोगुना मतलब की 200 से ज्यादा परिवारों को आटा और राहत सामिग्री प्रदान कर चुके गाँव आन्यौर के स्थानीय नागरिक विकास दादा अब श्री कृष्ण की क्रीड़ास्थली में कोरोना महामारी से बचने के लिए बृजवासी बालकों के साथ हवन कराने में जुट गये हैं, जी हां हम बात कर रहे हैं गोवर्धन क्षेत्र के चर्चित नाम विकास दादा जो कि युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत बन गये हैं, युवा साथियों के साथ मिलकर कोरोना बीमारी से मुक्ति के लिए ईश्वर और देवी देवताओं का आह्वान कर हवन किया गया, विदित हो कि विकास दादा ने  10वीं बार हवन किया और महामारी के शुरुआत में वह लगातार 5 दिन हवन करा चुके है, जिससे कि ब्रजधाम को कोरोना से मुक्ति मिल सके। खास बात यह थी कि उन्होंने सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा, हवन में प्राकृतिक जड़ी बूटियों के साथ आयुर्वेदिक जटामांसी नीम पत्र तुलसी कपूर स्वेट चंदन गोमूत्र पीपल की लकड़ी इलायची गोरखमुंडी आदि आयुर्वेदिक औषधियों का प्रयोग किया जाता है उनकी अनूठी पहल पर अन्य युवा भी प्रेरणा पाकर उनकी इस मुहिम में उनके साथ जुटे हुए हैं। प्राचीन परंपरा के अनुसार धार्मिक मान्यता एवं वैज्ञानिक प्रमाण के अनुसार यज्ञ करने से वातावरण में व्याप्त रोग फैलाने वाले कीटाणुओं नष्ट हो जाते हैं प्रकृति के द्वारा प्रदत्त इन औषधियों से आदमी को नई ऊर्जा का संचार होता है  हवन में उनके साथ बिंटू, छोटू, आकाश, मोनू, पंकज, दिनेश और ब्रजवासी बालक उपस्थित रहे।

 

डॉ केशव आचार्य गोस्वामी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: