आइये जाने अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स के बारें में

सुनीता विलियम्स के पिता गुजरात और मां स्लोवेनिया से हैं। लेकिन सुनीता का जन्म अमेरिका के ओहियो में हुआ था।
उन्होंने यूनाइटेड स्टेट नेवल एकेडमी से फिजिकल साइंस में बैचलर डिग्री और इंजीनियरिंग मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री प्राप्त की है।
उनकी शादी संघीय पुलिस अधिकारी माइकल जे विलियम्स से हुई है।
1987 में सुनीता विलियम्स को अमेरिकी नौसेना में शामिल किया गया था।
यहां वह बेसिक डाइविंग ऑफिसर नियुक्त हुई थीं।
सुनीता विलियम्स ने अंतरिक्ष में मैराथन की दौड़ लगाई थी। ऐसा करने वाली वह दुनिया की पहली शख्स हैं।

सुनीता विलियम्स ने करीब 30 तरह के विमानों में 3 हजार घंटों से ज्यादा की उड़ान भरी है।
अंतरिक्ष यात्रा के लिए सुनीता विलियम्स का प्रशिक्षण 1998 में शुरू हुआ।
लंबे प्रशिक्षण के बाद 9 दिसंबर 2006 को उन्हें एक्सपीडिशन 14 क्रू में शामिल होने का मौका मिला। तब वह अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (ISS – International Space Station) गईं।

एक इंटरव्यू में सुनीता विलियम्स ने बताया था कि वह पहली बार अंतरिक्ष में अपने साथ भगवद गीता, भगवान गणेश की मूर्ती और समोसा लेकर गई थीं।
2007 में उन्होंने दो महीनों में तीन बार अंतरिक्ष में चलहकदमी की – 31 जनवरी, 4 फरवरी और 9 फरवरी को।
उन्होंने कुल सात पर अंतरिक्ष में चलहकदमी (Spacewalk) की है।

सुनीता विलियम्स अंतरिक्ष में सबसे ज्यादा चलकदमी करने वाली महिला अंतरिक्षयात्री हैं।

इतना ही नहीं, सबसे लंबे स्पेसवॉक का रिकॉर्ड भी सुनीता विलियम्स के नाम दर्ज है। जब उन्होंने 50 घंटे 40 मिनट का स्पेसवॉक किया था।
16 अप्रैल 2007.. जब सुनीता विलियम्स ने अंतरिक्ष से ही बोस्टन मैराथन में हिस्सा लिया था। तब 42 साल की सुनीता ने 28,163 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से धरती का चक्कर लगा रहे ISS में मैराथन की दौड़ लगाई थी।
अपने दो शटल मिशन में सुनीता कुल 322 दिन अंतरिक्ष में गुजार चुकी हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: