उत्तराखंड में सोमवार को कोरोना संक्रमण का कोई मामला नहीं मिला। लेकिन पंजाब के फतेहगढ़ से संक्रमित ट्रक चालक ऊधमसिंह नगर जनपद के बाजपुर पहुंच गया। पुलिस ने उसे पकड़कर अस्पताल में भर्ती करा दिया है।

अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि सोमवार को पंजाब से सरिया का ट्रक लेकर बाजपुर पहुंचा चालक कोरोना संक्रमित पाया गया है। सात मई को पंजाब के फतेहगढ़ में 47 वर्षीय चालक का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। फतेहगढ़ के डीसी की सूचना पर पुलिस ने सीमा पर ट्रक चालक को पकड़ लिया। उसे सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

जबकि उसके साथ आए परिचालक को बाजपुर में क्वारंटीन किया गया है। ट्रक चालक के संपर्क में आने वाले लोगों को भी चिह्नित किया जा रहा है। वहीं, पंत ने बताया कि सोमवार को लैब से 160 सैंपल की रिपोर्ट आई, सभी निगेटिव निकलीं।

जबकि पूरे प्रदेश से 150 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, 245 सैंपलों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। प्रदेश में अब तक कुल 68 संक्रमित मामले आ चुके हैं, इनमें से 46 मरीज ठीक हो चुके हैं।सोमवार को जसपुर में नादेही गेस्ट हाऊस में हुई यूपी उत्तराखंड के पुलिस अफसरों की बैठक में रविवार को जसपुर आये नेपाली नागरिकों व अन्य राज्यों से आने वाले मजदूरों को लेकर चर्चा की गई।

तय किया गया कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जनपद में प्रवेश करने वाले मजदूरों को वही जिला रखेगा, जिसके यहां मजदूर पहुंचेंगे। मजदूरों से बचने को कोई भी थाना क्षेत्र उन्हें आगे नहीं भेजेगा। साथ ही आपसी समन्वय बनाकर इस समस्या से निपटा जाएगा।

कहा गया कि नेपाली नागरिक बिजनौर में रूके थे तो उन्हें वहीं, शेल्टर होम अथवा क्वारंटीन सेंटर में ठहराना चाहिए था। एएसपी राजेश भट्ट ने कहा कि जिले के सभी शेल्टर होम एवं क्वारंटीन सेंटर भर गए हैं। नेपाली नागरिकों के आने से उन्हे ठहराने में खासी दिक्कत हो रही है। ऐसे में तय किया गया कि अन्य जनपदों में पैदल जाने वाले मजदूर बिजनौर में प्रवेश करते हैं तो उन्हें वहीं शेल्टर होम में रोका जाएगा।

By upnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *