मोदीनगर : मजदूरों को लाने में की जा रही है लापरवाही, चिन्हित करे स्थान आश्रय स्थल की बजाए रस्ते में ड्राइवर छोड़कर जा रहे हैं। गाजियाबाद से मोदीनगर के लिए लाए जाने वाले मजदूरों को चिन्हित किये स्थान आश्रय स्थल की बजाए ड्राइवर द्वारा रास्ते में ही छोड़ा जा रहा है जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कहा जा रहा है कि यदि कोई भी प्रवासी मजदूर किसी भी प्रदेश के क्षेत्र में पैदल घूमता दिखाई दिया क्षेत्र के अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी वहीं दूसरी ओर ड्राइवरों की मनमानी मजदूर पैदल चलने के लिए मजबूर है

क्योंकि जिले के अधिकारियों द्वारा जो आश्रय स्थल चिन्हित किए गए हैं ड्राइवर उनकी बजाए मजदूरों को रास्ते में छोड़कर चले जाते हैं जिससे मजदूरों को फिर पैदल यात्रा करनी पड़ती है बताते चलें गाजियाबाद से मजदूरों को बसों में बैठाकर मोदीनगर के आश्रय स्थल पर छोड़ा जा रहा है इसके बाद इन सभी के रूटों की सारणी बना कर इनके शहर और राज्य के लिए क्रम बंद कर स्टेशन के लिए रवाना कर दिया जाता है इस तरीके से यह सभी प्रवासी मजदूर अपने अपने शहर और राज्यों में पहुंचाए जा रहे हैं एक तरफ तो प्रशासन की जुगत में लगा हुआ है कि इन सभी मजदूर हो को सकुशल इनके निवास स्थान पर पहुंचा दिया जाए वहीं दूसरी ओर बस चालकों की लापरवाही से यह मजदूर दोबारा पैदल चलने को मजबूर हो रहे हैं आज भी मोदीनगर में ऐसे दर्जनों मजदूर पैदल चलते दिखाई दिए जिसकी सूचना मिलते ही शासन में हड़कंप सा मच गया आनन-फानन में मजदूरों को गाड़ी भेजकर आंचल पर बुलाया गया एवं बस चालक के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई।

By upnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *