हाइलाइट्स

आज से चोर पंचक भी शुरू हो रहा है, इसमें बहुमूल्य वस्तुओं के चोरी होने का डर रहता है.
सभी पापों से मुक्ति प्रदान करने वाला पापमोचनी एकादशी व्रत आज है.

आज का पंचांग 5 अप्रैल 2024: आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि, धनिष्ठा नक्षत्र, साध्य योग, बालव करण, पश्चिम का दिशाशूल और शुक्रवार दिन है. सभी पापों से मुक्ति प्रदान करने वाला पापमोचनी एकादशी व्रत आज है. यह व्रत रखकर भगवान विष्णु की पूजा करते हैं और पापमोचनी एकादशी व्रत कथा सुनते हैं. भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए विष्णु सहस्रनाम और विष्णु चालीसा का पाठ भी करना चाहिए. इसके अलावा अपने मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए ओम नमो भगवते वासदेवाय नम: मंत्र का जाप कर सकते हैं. इस व्रत को करने से अप्सरा मंजुघोषा और ऋषि मेधावी को पापों से मुक्ति मिली थी. आज के दिन साध्य और शुभ योग बना है. आज के दिन पश्चिम दिशा में यात्रा करना वर्जित है. आज से चोर पंचक भी शुरू हो रहा है, इसमें बहुमूल्य वस्तुओं के चोरी होने का डर रहता है.

शुक्रवार के दिन एकादशी व्रत है, इसलिए आप भगवान विष्णु के साथ माता लक्ष्मी की पूजा करें. लक्ष्मी नारायण की पूजा करने से आपके जीवन में सुख और समृद्धि बढ़ेगी. शाम के समय में भी माता लक्ष्मी की पूजा करें और उनकी आरती उतारें. उनको खीर और बताशे का भोग लगाएं. लक्ष्मी चालीसा, श्रीसूक्त, कनकधारा स्तोत्र का पाठ करें. माता लक्ष्मी की कृपा से आपके धन और संपत्ति में भी वृद्धि होगी. शुक्रवार के दिन व्रत रखने और शुक्र ग्रह से जुड़ी वस्तुओं का दान करने से कुंडली का शुक्र दोष भी दूर होता है. शुक्र के मजबूत होने से सुख और सुविधाओं में वृद्धि होती है. आज के पंचांग से जानते हैं सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय, चंद्रास्त, शुभ मुहूर्त, साध्य योग, राहुकाल, दिशाशूल आदि.

ये भी पढ़ें: 2 शुभ योग में पापमोचिनी एकादशी, विष्णु पूजा के समय पढ़ें व्रत कथा, पापों से मिलेगी मुक्ति

आज का पंचांग, 5 अप्रैल 2024
आज की तिथि- एकादशी – 01:28 पीएम तक, उसके बाद द्वादशी तिथि
आज का नक्षत्र- धनिष्ठा – 06:07 पीएम तक, फिर शतभिषा
आज का करण- बालव – 01:28 पीएम तक, उसके बाद कौलव – 11:56 पीएम तक
आज का पक्ष- कृष्ण
आज का योग- साध्य – 09:56 एएम तक, फिर शुभ योग
आज का दिन- शुक्रवार
चंद्र राशि- मकर – 07:12 एएम तक, फिर कुंभ

ये भी पढ़ें: ग्रहण बाद मेष में होगा सूर्य गोचर, 6 राशिवालों के आएंगे शुभ दिन! पदोन्नति के साथ मिलेगा यश, शत्रु होंगे परास्त

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय
सूर्योदय- 06:06 एएम
सूर्यास्त- 06:41 पीएम
चन्द्रोदय- 04:29 एएम, 06 अप्रैल
चन्द्रास्त- 03:00 पीएम
अभिजीत मुहूर्त- 11:59 एएम से 12:49 पीएम तक
ब्रह्म मुहूर्त- 04:35 एएम से 05:21 एएम तक

अशुभ समय
राहुकाल – 10:49 एएम से 12:24 पीएम तक
गुलिक काल – 07:41 एएम से 09:15 एएम तक
पंचक – 07:12 एएम से 06:05 एएम तक, 06 अप्रैल
दिशाशूल – पश्चिम

शिववास
कैलाश पर – 01:28 पीएम तक, उसके बाद से नंदी पर

Tags: Dharma Aastha, Lord vishnu, Papmochani ekadashi

By upnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *