नई दिल्‍ली. निवर्तमान ब्रिटिश उच्चायुक्त ने भारत और ब्रिटेन के बीच मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) के शीघ्र समापन पर आशा व्यक्त की है, लेकिन चुटकी ली कि “नेगोसिएशन (बातचीत) अभी बाकी है मेरे दोस्त.” राजदूत एलेक्स एलिस तीन साल के अपने कार्यकाल के बाद अब भारत छोड़ने के लिए तैयार हैं. उन्‍होंने द इंडियन एक्सप्रेस के साथ एक इंटरव्‍यू में कहा कि दोनों देशों के नेताओं ने स्पष्ट कर दिया है कि वे एफटीए चाहते हैं.

जब उनसे पूछा गया कि क्या दोनों देश किसी व्यापार समझौते पर पहुंचने के करीब हैं तो उन्होंने जवाब दिया, “हां, हम निश्चित रूप से करीब हैं. दोनों प्रधानमंत्रियों ने स्पष्ट किया कि वे एफटीए चाहते हैं और उन्होंने इसके लिए अपनी इच्छा की पुष्टि करने के लिए पिछले सप्ताह ही बात की थी. यह सीधी बातचीत नहीं है क्योंकि आपके पास दो समान साइज की अर्थव्यवस्थाएं हैं, लेकिन ये बहुत अलग-अलग शेप में हैं. भारतीय अर्थव्यवस्था बहुत अधिक कृषि-आधारित है, जाहिर तौर पर प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद के मामले में बहुत गरीब है.”

यह भी पढ़ें:- केजरीवाल, सिसोदिया के बाद इस आप नेता पर पड़ी रेड, इनकम टैक्‍स की टीम ने सुबह 5 बजे दी 7 ठिकानों पर दस्‍तक

नेगोसिएशन अभी बाकी है मेरे दोस्‍त...भारत-ब्रिटेन फ्री ट्रेड पर बोले यूके के राजदूत, कहां आ रही दिक्‍कत?

उन्होंने कहा, “यूरोपीय संघ का सदस्य होने की विरासत के कारण ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था शेष यूरोप के साथ अपने मैन्‍युफैक्‍चरिंग के मामले में में अधिक एकीकृत है. दोनों पक्षों के लोग वास्तविक नए बाज़ार तक पहुंच चाहते हैं. यूके-भारत व्यापार 2020 से दोगुना हो गया है. वास्तव में, यह बहुत बढ़ गया है, लेकिन हम व्यापार समझौते में आर्थिक लाभ देख सकते हैं,” गतिशीलता और वीजा के महत्वपूर्ण मुद्दों पर बातचीत के मद्देनजर एफटीए के निष्कर्ष के बारे में पूछे जाने पर एलिस ने कहा, “आसान नहीं है, बातचीत अभी बाकी है, मेरे दोस्त.”

Tags: Britain News, India britain, Pm narendra modi, Rishi Sunak

By upnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES