हाइलाइट्स

वास्तु शास्त्र में घर की हर दिशा खास मानी गई है.
उत्तर-पश्चिम दिशा को घर का वायव्य कोण कहा जाता है.

4 Things Never Keep In Vayavya Kon : वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर में रखी प्रत्येक वस्तु और घर की प्रत्येक दिशा की अपनी एक अलग एनर्जी होती है. घर की हर दिशा के महत्व को समझ कर वास्तु के अनुसार घर में चीज़ें रखी जाती हैं. ऐसा होने से घर में सकारात्मक माहौल बना रहता है. व्यक्ति प्रसन्न रहता है, और उन्नति प्राप्त होती है. दिशाओं का अर्थ सिर्फ़ 4 मुख्य दिशाओं से नहीं, बल्कि कुछ उप दिशाओं से भी है. इन्हीं दिशाओं में से एक है उत्तर पश्चिम दिशा, जिसे वायव्य कोण कहा जाता है. ये उत्तर और पश्चिम के बीच की दिशा मानी गई है. वास्तु शास्त्र के अनुसार यह दिशा काफ़ी अस्थिर होती है, इसलिए इस दिशा में ग़लत चीज़ों को रखे जाने पर इसके नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं. क्या सामान इस दिशा में रखने से बचना चाहिए इस बारे में न्यूज़18 हिंदी को बताया है भोपाल निवासी ज्योतिषी एवं वास्तु सलाहकार पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा ने.

1. तिजोरी
वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की उत्तर पश्चिम दिशा में भारी अल्मारी या तिजोरी नहीं रखी जानी चाहिए. उत्तर-पश्चिम दिशा को अस्थिर दिशा माना गया है. वास्तु शास्त्र कहता है कि इस दिशा में ऐसी कोई चीज़ नहीं रखनी चाहिए, जिसकी हम अपने जीवन में स्थिरता चाहते हैं, और धन ऐसी ही एक चीज़ है. घर की उत्तर-पश्चिम दिशा में तिजोरी या अलमारी रखी जाए तो व्यक्ति के जीवन में पैसा रुकता नहीं है.

यह भी पढ़ें – आप भी मंदिर से लौटते समय बजाते हैं घंटी? हो जाएं सावधान, न करें ऐसा, पंडित जी से जानें कारण और महत्व

2. बुजुर्गों का कमरा
घर में बड़े-बुज़ुर्ग काफ़ी महत्व रखते हैं. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की उत्तर पश्चिम दिशा में बड़े बुज़ुर्गों का कमरा नहीं बनवाना चाहिए. वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि इस दिशा में घर के बड़े बुज़ुर्गों का कमरा होता है, तो इससे उनके सम्मान में कमी आती है.

3. पुरानी फाइलें
घर की उत्तर पश्चिम दिशा में अपने पुराने क्लाइंट्स की किसी भी प्रकार की फ़ाइल नहीं रखनी चाहिए. बहुत से ऐसे क्लाइंट होते हैं, जो आपके साथ कई सालों से जुड़े होते हैं, और आपके व्यापार में लाभ पहुंचाते हैं. ऐसे में यदि आप घर की उत्तर-पश्चिम दिशा में इन क्लाइंट्स की फ़ाइलें रखते हैं, तो आपको नुक़सान हो सकता है.

यह भी पढ़ें – सूर्य से केतु तक कैसे खराब होते हैं नवग्रह, इन्हें शांत करने के लिए जानें प्रत्येक ग्रह का बीज मंत्र और विधि

4. पानी की बोरिंग
घर की उत्तर पश्चिम दिशा में पानी की बोरिंग नहीं होनी चाहिए. वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि घर की इस दिशा में पानी की बोरिंग करवाई जाए, तो घर का मालिक क़ानूनी पचड़ों या मुक़दमे में पड़ सकता है. इसके अलावा इस दिशा में बोरिंग कराने से घर की स्थिरता भी भंग होती है.

Tags: Astrology, Dharma Aastha, Vastu, Vastu tips

By upnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *